Wednesday, May 1, 2013

चुनाव वाले दिन और चुनवा के बाद

Before and after elections
हमारे महान देश भारत मैं चुनाव के दिन और चुनाव के बाद वाले दिनों मैं बहुत ज्यादा फरक होता है
चुनाव वाले दिन कोई तो कहेता हैं की मेरे पास वोट डालने के लिए टाइम नहीं हैं तो कोई कहेता हैं कि अरे भाई हम तो अपनी जाती के उम्मीद्द्वार को ही वोट देंगे और किसि को एक दिन के लिए जन्नत नसीब हो जाती है क्यों कि उसका तो मानना होता हैं कि "पैसा दो वोट लो" ," पवुआ चडाओ वोट ले जाओ"

और चुनाव के दुसरे दिन लोगों का रवय्या बहुत बदला बदला होता है उदहारण के तौर पर-
सारे नेता चोर हैं , बिजली नहीं आ रही , पानी नहीं आ रहा , महेंगाई बहुत बड गयी हैं , पडोसी के घर मैं अपहरण हो गया अथवा
ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि हम लोग ही होते हैं जो अपने मत को बेच देते हैं और फिर दूसरी सरकार आने का इंतज़ार करते हैं हमें अपने मत को बेचना नहीं चाहिए हमें यह सोचना चाहिए कि अगर हम किसि गलत नेता को एक दिन के आराम के लिए अपने ऊपर पांच साल के लिए राज करने देते हैं तो हमारे साथ जो हो रहा हैं उसके जिम्मेदार हम खुद हैं
Corruption in India cartoon

No comments:

Post a Comment

Thanks.

Disclaimer           Contact us           Advertise           Help us