Friday, October 5, 2012

यहाँ पेशाब करना मन है

कहते हैं ना की इंसान में कई खूबियाँ होती हैं और उन में से एक हैं जिस काम के लिए मन किया जाए उस काम को करना

और ऐसा हमारे देश में बहुत मामूली बात हैं जैसे की हमारे देश में जहां पे लिखा होता है की यहाँ पे पेशाब करना मन हैं सारी दुनिया वहीँ पर पेशाब करती हैं और जहां पर लिखा होता हैं यहाँ पर कचरा डालना माना है सारी दुनिया सारा कचरा वहीँ पर डालती है

क्या हो गया हैं हम लोगों को क्यों हम अपने देश को अपना घर नहीं समझते हैं क्यों हम अपने देश को अपने घर की जैसे साफ़ क्यों नहीं रखते हैं क्या हम अपने घर के अन्दर भी ऐसा बर्ताव करते हैं ?

जैसे की आप देख सकते हैं उपरुक्त चित्र मैं की श्रीमान सज्जन क्या कर रहे हैं परेशानी ये हैं की हमारे देश मैं कानून बन तो जाता हैं लेकिन उन कानूनों का कोई पालन नहीं होता हैं हर जगह नियम लिखे होते हैं लेकिन रत्ती भर भी पालन नहीं

ऐसी परेशानियों के लिए हम लोग ही जिम्मेदार हैं अगर हम लोग खुद इन सम्मास्यों के बारे मैं सोचने लग जाए और थोडा बहुत हमारे देश के बारे मैं सोचने लग जाए तो हमारे देश को ऐसी परेशानियों से मुक्ति मिल जायगी

यही हैं हामरे महान देश भारत की सच्चाई चाहे हम माने या न माने

No comments:

Post a Comment

Thanks.

Disclaimer           Contact us           Advertise           Help us