Sunday, April 1, 2012

एक तरफ तो जानवर भगवान सामान हैं और दूसरी तरफ......

फ्रिएंड्स यह आर्टिकल ख़ास तौर पर मेरे हिन्दू भाइयों के लिए है
एक  तरफ  तो हम हिंदु लोग कहते हैं की जानवर को हानि पहुंचना बहुत बरडा पाप हैं और किसि भी प्राणी कि हत्या करना उससे भी बड़ा

तो फिर हम क्यों भगवन के आगे जानवरों कि बलि चर्धाते हैं इसका क्या मतलब हैं कौनसे भगवन ऐसा कहते हैं कि जानवरों कि बलि चर्धाने से वो खुश होंगे
यह देखिये कि कैसे एक पंडित गायों के कटे सरों कि बलि चड़ाकर पूजा कर रहा है

मेरा एक प्रशन हैं-
जानवरों की बलि चडाने से क्या होता हैं हिन्दू धर्म मैं किसी भी जानवर को हानि पहुंचना पाप हैं हम लोग जानवरों को फालतू मैं क्यों अपने सर पे जानवरों की हत्या का पाप चदते हैं?

और मेरा तो यह मानना हैं कि जानवर से पवित्र तो इंसान होता हैं तो भगवन के आगे इंसान कि बलि क्यों नहीं चर्धायी जाती हैं?

10 comments:

  1. hummmmm.
    point to be noted.

    ReplyDelete
  2. aag laga do ese bhawan ko.......sal ko........

    ReplyDelete
    Replies
    1. me too think that what is the reason for sacrificing the animals.

      Delete
  3. Friends stop doing these stupit sort of things

    ReplyDelete
  4. First they say that they are god to us.
    And in this pic what are the doing.What we can in other words
    Aandwishwas

    ReplyDelete
    Replies
    1. Ya they are doing is only killing animals for filling their stomachs and using the name of god in killing the animals.
      But the think we should focus on is that the "GOD creates don't DESTROYES"
      And the most shocking think is that the priest is also interested in such type of thinks.

      Delete
  5. Pata nahi ye sab kab tak chalta rahega?....

    ReplyDelete
  6. yaar how can it possible just kill them all......

    ReplyDelete
  7. jo log aasi bali kar ke puja karte hai mera bus chale to me unki bali chada du

    ReplyDelete

Thanks.

Disclaimer           Contact us           Advertise           Help us