Friday, March 30, 2012

छोटी मोटी बातों पे हार्डताल और भारत बंद करना ठीक नहीं हैं

छोटी मोटी बातों पे हार्डताल और भारत बंद करना ठीक नहीं हैं

हम लोग छोटी-छोटी बातों पे भारत बंद , हार्डताल , दंगे अथवा करने मैं पता नहीं क्या मजा आता हैं
तभी तो हम लोग छोटी-छोटी बातों पर हार्डताल अथवा करके बैठ जाते हैं दोस्तों हार्डताल करने से क्या होगा ? कुछ भी नहीं इससे सिर्फ एक आम आदमी की एक दिन कि रोजी-रोटि छ+इन जाति हैं
जिन लोगों के पास पैसा हैं उनका तो कुछ भी नहीं बिगर्दाता लेकिन एक आम आदमि कि परेशानी एक आम आदमि ही समज सकता हैं


हम लोग हर्द्तालें कर कर अपना ही नुक्सान करते हैं उधारण के तौर पर

इन दिनों चल रहि जेवेल्लेर्स कि हर्द्ताल-

इससे कुछ ख़ास उप्लाभ्दी हांसिल नहीं हुई लेकिन फिर भी 15 दिनों के लिए छोटे कारीगरों कि रोजी-रोटि  छ+इन गई जो लोग आमिर हैं उनके तो हर्द्ताल से कुछ भी असर नहीं पड़ा लेकिन कोई गरीबों के बारे मैं सोचता ही नहीं हैं


मैं इस समाचार से यह सन्देश अर्जित करना चाहता हूँ कि हमें विरोध करने के लिए हार्डताल से हटकर तरीके इस्तेमाल करने होंगे

2 comments:

  1. hardtaalen karne se kuch haansil nahi hota hain.

    sahi likha

    ReplyDelete
  2. hmmmmmm/
    tord ford ka bhi kuch khaas matlab nahi hota.

    ham log faltu main ye sab kaam karte hain.

    ReplyDelete

Thanks.

Disclaimer           Contact us           Advertise           Help us